चैत्र नवरात्रि और ख़ास उपाय

नमाज़ का समय

चतुर्थी नवदुर्गा: माता कूष्मांडा

चतुर्थी नवदुर्गा: माता कूष्मांडा

नवरात्र पूजन के चोथे दिन कूष्मांडा देवी के स्वरूप की ही उपासना की जाती है त्रिवीधताप युक्त संसार इन के उदर मे स्थित है, इसलिए ये भगवती "कूष्मांडा" कहलाती है | ईषत हँसने से अंड को अर्थात ब्रामंड को जो पैदा करती है, वही शक्ति कूष्मांडा है | जब सृष्टिका अस्तित्वन ही था, तब इन्ही देवी ने ब्रह्मांड की रचना की थी |

नवरात्र  (4th Day of Navratri): मां भगवती के कूष्मांडा स्वरूप की उपासना चैत्र नवरात्र में 21 मार्च  2018 को की जाएगी। 
शारदीय नवरात्र में माता की पूजा का दिन 12 अक्टूबर को है। 

माता कूष्मांडा का उपासना मंत्र

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च।
दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे॥

 

माता का स्वरूप

माता की आठ भुजाए है| अतः ये अष्टभुजा देंवी के नाम से भी विख्यात है|  इनके साथ हाथो मे क्रमश: कमंडल, धनुष, बाण, कमल-पुष्प, अमृतपूर्ण कलश, चक्र तथा गदा है | आठ वे हाथ मे सभी सिद्धियो ओर निधियो को देने वाली जपमाला है | इनका वाहन सिंह है |


आराधना महत्व

माता कूष्मांडा की उपासना से भक्तो के समस्त रोग - शोक मिट जाते है | देवी आयु, यश, बल ओर आरोग्य देती है | शरणागत को परमपद की प्राप्ति होती है | इनकी कृपा से व्यापार व्यवसाय मे वृद्धि व कार्य मे उन्नति, आय के नये मार्ग प्राप्त होते है |

 

पूजामेउपयोगीवस्तु

चतुर्थी के दिन मालपुए का नैवेद्य अर्पित किया जाए और फिर उसे योग्य ब्राह्मण को दे दिया जाए। इस अपूर्व दान से हर प्रकार का विघ्न दूर हो जाता है। 

कूष्मांडामाताकीआरती


कुष्मांडा जय जग सुखदानी
मुझ पर दया करो महारानी
पिंगला ज्वालामुखी निराली 
शाकम्बरी माँ भोली भाली 
लाखो नाम निराले तेरे 
भगत कई मतवाले तेरे 
भीमा पर्वत पर है डेरा 
स्वीकारो प्रणाम ये मेरा 
संब की सुनती हो जगदम्बे 
सुख पौचाती हो माँ अम्बे 
तेरे दर्शन का मै प्यासा 
पूर्ण कर दो मेरी आशा 
माँ के मन मै ममता भारी 
क्यों ना सुनेगी अर्ज हमारी 
तेरे दर पर किया है डेरा 
दूर करो माँ संकट मेरा 
मेरे कारज पुरे कर दो 
मेरे तुम भंडारे भर दो 
तेरा दास तुझे ही ध्याये 
'भक्त' तेरे दर शीश झुकाए


विशेष: मान्यता है कि माता की उपासना से मनुष्य को व्याधियों से मुक्ति मिलती है। मनुष्य अपने जीवन के परेशानियों से दूर होकर सुख और समृद्धि की तरफ बढ़ता है।

नवदुर्गा के अन्य रूप जानने के लिए यहां क्लिक करें: Navdurga Details in Hindi
जानिएं नवरात्रों के दौराने कैसे करें मां दुर्गा की पूजा: Navratri Puja Vidhi in Hindi
दुर्गा जी के विशेष मंत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें: Devi Durga Mantra in Hindi


लोकप्रिय फोटो गैलरी