Shardiya Navratra Information in Hindi | Shardiya Navratra Puja Vidhi in Hindi | शारदीय नवरात्र पूजा विधि 

शारदीय नवरात्र

आदिशक्ति मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की आराधना का पर्व शारदीय नवरात्र हिन्दू पंचांग के अनुसार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है। आश्विन शुक्लपक्ष प्रथमा को कलश की स्थापना के साथ ही भक्तों की आस्था का प्रमुख त्यौहार शारदीय नवरात्र आरम्भ हो जाता है। मार्कण्डेय पुराण में शक्ति(दुर्गा) के नौ रुपों की चर्चा की गई है और नवरात्र में इनकी पूजा के विशेष फल बताए गए हैं।  

 


नौ देवियों की पूजा (Navdurga Puja in Navratri in Hindi)

नौ दिनों तक चलने वाले इस महापर्व में मां भगवती के नौ रूपों क्रमशः शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री देवी की पूजा की जाती है।

 

नवरात्र की तिथियां (Navratri Vrat Dates) 


10 अक्टूबर, 2018 : इस दिन शुभ मुहूर्त सुबह 06 बजकर 22 मिनट से लेकर 07 बजकर 25 मिनट तक का है। प्रथम नवरात्र को देवी के शैलपुत्री रूप का पूजन किया जाता है।

10 अक्टूबर, 2018 : नवरात्र की द्वितीया तिथि को देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। 
11 अक्टूबर, 2018 : तृतीया तिथि को देवी दुर्गा के चन्द्रघंटा रूप की आराधना की जाती है। 
12 अक्टूबर, 2018 : नवरात्र पर्व की चतुर्थी तिथि को मां भगवती के देवी कूष्मांडा स्वरूप की उपासना की जाती है। 
13 अक्टूबर, 2018 : पंचमी तिथि को भगवान कार्तिकेय की माता स्कंदमाता की पूजा की जाती है। 

14 अक्टूबर, 2018 : पंचमी तिथि को भगवान कार्तिकेय की सरस्वती आवाहन​ की पूजा की जाती है।

15 अक्टूबर, 2018 : नारदपुराण के अनुसार आश्विन शुक्ल षष्ठी को मां कात्यायनी की पूजा करनी चाहिए।
16 अक्टूबर, 2018 : नवरात्र पर्व की सप्तमी तिथि को मां कालरात्रि की पूजा का विधान है। 
17 अक्टूबर, 2018 : अष्टमी तिथि को मां महागौरी की पूजा की जाती है। इस दिन कई लोग कन्या पूजन भी करते हैं। 
18 अक्टूबर, 2018 : नवरात्र पर्व की नवमी तिथि को देवी सिद्धदात्री स्वरूप का पूजन किया जाता है। सिद्धिदात्री की पूजा से नवरात्र में नवदुर्गा पूजा का अनुष्ठान पूर्ण हो जाता है। 
19 अक्टूबर, 2018 : बंगाल, कोलकाता आदि जगहों पर जहां काली पूजा या दुर्गा पूजा की जाती है वहां दसवें दिन दुर्गा जी की मूर्ति का विसर्जन किया जाता है।

 

साबूदाने की खीर

 

साबूदाने की खिचड़ी के बाद आइयें जानें कैसे बनाएं साबूदाने की खीर। इसे भी आप छोटे या बड़े साबूदाने से बना सकते है। फर्क सिर्फ यह होता है कि छोटे साबूदाने को केवल एक घंटे पानी में भिगोना होता है पर बड़े या मोटे साबूदाने को कम से कम आठ घंटे। आइये अब जानें कैसे बनाएं व्रत वाली साबूदाने की खीर।

साबूदाने की खीर की रेसिपी (Saboodane ke Kheer ki Recipe in Hindi)

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Sabudana ki kheer

  • छोटे साबूदाना -  100 ग्राम (3/4 कप)
  • दूध फुल क्रीम-  1 लीटर
  • चीनी- 75 - 100 ग्राम
  • काजू , किशमिश और पिस्ते (छोटे टुकड़ों में कटे हुए) 
  • इलायची पाउडर

 

बनाने की विधि

एक बर्तन में दूध गर्म करें। जब दूध में उबाल आ जाए तक इसमें भीगे हुये साबूदाने डालें और लगातार चलाते हुये पकाएं। जब दूध में उबाल आ जाए तब गैस धीमी कर दें।  

अब इसमें काजू और किशमिश डालें। खीर को बराबर चलाते रहें अन्यथा यह तले से जल सकता है।

जब खीर गाढ़ी दिखने लगे और साबूदाने नरम हो जाए तब इसमें चीनी मिलाएं और पांच मिनट के लिए हल्की आंच पर छोड़ दीजिएं। पांच मिनट बाद गैस बंद करके इसमें इलायची पाउडर डालें और पिस्ते से सजाकर सर्व करें।

नोट: अगर आप साबूदाने को दूध में डालने के बाद चलाएंगे नहीं तो दूध फटने की संभावना बनी रहती है। 

 

कैसे बनाएं व्रत की चटनी – How to Cook Vrat Chatni

 

व्रत के दौरान अक्सर लोग कुट्टू के पकौड़े तो आलू के चिप्स आदि खाना पसंद करते हैं। लेकिन यह स्नैक्स बिना चटनी के अधूरे होते हैं। अब आप सोचेंगे कि भला व्रत में चटनी कैसे खाएं? तो इसका जवाब है व्रत की चटनी से। आज हम आपको बताएंगे व्रत की चटनी बनाने की रेसिपी।

व्रत के लिए हरी धनिया की चटनी

हरी धनिया– 01 गुच्छा,

पुदीना– 1/2 गुच्छा,

दही– 1/4 कप,

हरी मिर्च– 2-3

ज़ीरा- 01 छोटा चम्मच (भुना हुआ)

सेंधा नमक– स्वादानुसार

व्रत के लिए हरी धनिया की चटनी बनाने की विधि :

सबसे पहले तो धनिया और पुदीना को साफ कर लें। इसके बाद हरी मिर्च के साथ इन दोनों को धो लें।

एक मिक्सी में धनिया, पुदीना, हरी मिर्च और जीरा डालकर बारीक पीस लें। अब मिक्सी में ही दही और सेंधा नमक डालकर एक बार फिर पीस लें। लीजिएं आपकी व्रत की स्वादिष्ट चटोरी चटनी तैयार है।

 

व्रत के लिए टमाटर की चटनी

टमाटर की सामान्य चटनी तो आपको बेहद स्वादिष्ट लगती ही होगी लेकिन क्या आपने व्रत के दौरान कभी टमाटर की चटनी खाई है।  नहीं तो चलिए आज हम बताते हैं कैसे बनाएं टमाटर की व्रत वाली चटनी।

आवश्यक सामग्री

टमाटर: 100 ग्राम

हरी धनिया:  आधा कप

हरी मिर्च – 2

भुना जीरा: 1/2 चम्मच

सेंधा नमक – स्वादानुसार

व्रत के लिए टमाटर की चटनी बनाने की विधि

सबसे पहले टमाटर, हरी धनिया और हरी मिर्च को साफ पानी से धो लें। अब टमाटर को छोटे-छोटे टुकडों में काट लें। अब टमाटर, हरी धनिया, जीरा, नमक और हरी मिर्च को मिक्सी में डालकर पीस लें। लीजिएं तैयार को गई झटपट व्रत वाली टमाटर की चटनी।

 

व्रत वाली नारियल की चटनी - Coconut chutney Recipe in Hindi

टमाटर और धनिया के बाद आइए अब जानें नारियल की चटनी बनाने की विधि। इसे भी आप व्रत के दौरान किसी व्यंजन के साथ खा सकते हैं। 

आवश्यक सामग्री

नारियल- 1 कप (कद्दूकस किया)

हरा धनिया- 2 चम्मच

नींबू- आधा

हरी मिर्च- 2

सेंधा नमक- स्वादानुसार

बनाने की विधि- Coconut chutney Recipe for Vrat in Hindi

नारियल की चटनी बनाने के लिए सबसे पहली आवश्यकता है ताजे नारियल। नारियल के गुदे को अच्छी तरह से कद्दूकस कर लीजिएं। अब मिक्सर जार में कद्दूकस किया हुआ नारियल, हरी मिर्च, धनिया और सेंधा नमक डालकर बिलकुल बारीक पीस लीजिएं। इसके बाद इसमें कुछ बूंदे नींबू के रस की डालें और लीजिएं तैयार है व्रत वाली नारियल की चटनी । 

 


लोकप्रिय फोटो गैलरी