चैत्र नवरात्रि और ख़ास उपाय

नमाज़ का समय

ईस्टर

ईसाई धर्म के अनुसार, ईसा मसीह (यीशु मसीह) को जब सूली पर लटका दिया गया था तब वह तीन दिन बाद पुनर्जीवित हो उठे थे। इसी दिन को ईसाई ईस्टर दिवस के रूप में मनाते हैं। ईस्टर अमूमन संडे यानि रविवार के दिन ही मनाया जाता है।

 

कब मनाया जाता है (Timing of Easter)

ईसाई धर्म में ईस्टर एक बेहद महत्त्वपूर्ण दिन माना जाता है। यह पर्व कभी भी साल के किसी निश्चित दिन नहीं मनाया जाता बल्कि इसकी तारीख हर साल बदलती रहती है। आमतौर पर यह मार्च और अप्रैल महीने के बीच में ही मनाया जाता है।

 

ईस्टर (Easter)

साल 2018 में ईस्टर 01 अप्रैल को मनाया जाएगा।

 


ईस्टर काल (Easter Season)

ईस्टर काल 40 दिनों तक मनाया जाता है, इस दौरान सभी ईसाई उपवास, प्रार्थना और प्रायश्चित करते हैं। ईस्टर काल के मुताबिक ईस्टर से पहले वाले शुक्रवार को गुडफ्राइडे मनाया जाता है। गुडफ्राइडे के दिन ही ईसा मसीह को सूली पर लटकाया गया था। ईस्टर से पहले आने वाले सप्ताह को पवित्र सप्ताह कहा जाता है।

 

अलग-अलग संस्कृति (Different Celebration of Easter)

पश्चिमी ईसाई धर्म के लोग ईस्टर सीज़न के दौरान “ऐश वेड्नस्डे” को उपवास रखना शुरू करते हैं और ईस्टर संडे को अपने उपवास का अंत करते हैं। वहीं पूर्वी ईसाई सभ्यता के लोग चर्चों में ईस्टर काल के दौरान सोमवार को उपवास रखना शुरू किया जाता है।

ईसाई धर्म के पर्व और त्यौहार

लोकप्रिय फोटो गैलरी