बौद्ध दार्शनिक मत

बौद्ध दार्शनिक मत (Buddh Darshanik Mat)

बौद्ध धर्म भारत में शुरु हुए प्रमुख धर्मों में से एक है। महात्मा बुद्ध द्वारा स्थापित इस धर्म की मुख्य विशेषता यह है कि यह लोगों को जीवन जीने के मार्ग दिखाने के साथ उसे अपने मतों द्वारा प्रतिपादित भी करता है। बौद्ध धर्म में दर्शन को बेहद अहम महत्व दिया गया है। बौद्ध धर्म के दार्शनिक मत मनुष्य के जीवन जीने के मार्ग पर आधारित हैं।


बौद्ध धर्म के मुख्य दार्शनिक मत (Main Philosophical Buddhism Vote)

* कर्म ही सबसे बड़ा है।
* आत्मा जैसी कोई चीज नहीं है, चेतना ही वह वस्तु है जिसे हम आत्मा कहते हैं।


लोकप्रिय फोटो गैलरी