संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत विधि- Sankashti Ganesh Chaturthi Vrat Vidhi in Hindi
व्रत विधि

संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत विधि- Sankashti Ganesh Chaturthi Vrat Vidhi in Hindi

Dharm Raftaar

हिन्दू पंचांग के अनुसार प्रत्येक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को "संकष्टी चतुर्थी" के नाम से जाना जाता है।

संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत विधि (Sankashti Ganesh Chaturthi Vrat Vidhi in Hindi)

नारद पुराण के अनुसार संकष्टी चतुर्थी के दिन व्रती को पूरे दिन का उपवास रखना चाहिए। शाम के समय संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत कथा को सुननी चाहिए। रात के समय चन्द्रोदय होने पर गणेश जी का पूजन कर ब्राह्मणों को भोजन कराने के बाद स्वयं भोजन करना चाहिए। इस दिन गणेश जी का व्रत-पूजन करने से धन-धान्य और आरोग्य की प्राप्ति होती है और समस्त परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

संकष्टी गणेश चतुर्थी व्रत (Sankashti Ganesh Chaturthi Vrat)

मार्च माह में संकष्टी चतुर्थी का व्रत 13 जनवरी को रखा जाएगा।