धनतेरस पर ना करें इन सामानों की खरीदारी, वरना आ सकती है घर में बरकत की कमी
पर्व

धनतेरस पर ना करें इन सामानों की खरीदारी, वरना आ सकती है घर में बरकत की कमी

Dharm Raftaar

धनतेरस (Dhanteras 2020) का त्यौहार नजदीक आ गया है और यह दिन भगवान कुबेर को खुश करना का सबसे शुभ दिन माना जाता है। धनतेरस शुक्रवार, 13 नवंबर को है और इसकी पूजा का शुभ समय शाम 5:30 बजे से 6:00 बजे तक रहेगा। ज्योतिषों के अनुसार इस दिन खरीदारी करना बेहद शुभ माना जाता है लेकिन अगर खरीदारी सही सामानों की जाए तो ज्यादा शुभ माना जाता है, चलिए इस लेख में हम बताते हैं कि किन सामानों की नहीं करनी चाहिए खरीदारी, जिनसे आती है बरकत में कमी –

स्टील के बर्तन न खरीदें -

धनतेरस के दिन लोग स्टील के बर्तन सबसे ज्यादा खरीदते हैं, लेकिन ऐसा करने से बचना चाहिए। स्टील शुद्ध धातु नहीं होती और इस पर राहु का प्रभाव भी अधिक होता है। आप सिर्फ और सिर्फ प्राकृतिक धातुओं का ही प्रयोग करें। मानव निर्मित धातु में से केवल पीतल खरीद सकते हैं।

एल्युमिनयम न खरीदें -

धनतेरस पर कई लोग बाजार जाकर एल्युमिनयम के बर्तन या सामान खरीदना पसंद करते हैं। इस धातु पर भी राहु का प्रभाव देखा जाता है। एल्युमिनयम दुर्भाग्य का सूचक माना जाता है। धनतेरस के दिन एल्युमिनयम की कोई चीज घर न लाएं।

लोहा न लाएं -

ज्योतिषों के अनुसार लोहा शनिदेव का कारक है। इसलिए भूलकर भी धनतेरस के दिन घर पर लोहा न लाएं। ऐसा करने से त्यौहार पर कुबेर की कृपा नहीं होती।

धारदार चीजें न खरीदें -

धनतेरस के दिन किसी भी तरह की धारदार चीजें न खरीदें जैसे चाकू, कैंची या कोई धारदार हथियार। धनतेरस के दिन इन चीजों को खरीदना अशुभ माना जाता है।

प्लास्टिक की चीजें न लाएं -

धनतेरस के दिन प्लास्टिक की चीजें न खरीदें। आपको बता दें प्लास्टिक की चीजें घर में बरकत नहीं लाती।

चीनी मिट्टी से बने बर्तन न लें -

धनतेरस पर सेरामिक से बने बर्तन या गुलदस्ता आदि नहीं खरीदना चाहिए इन चीजों में स्थायित्व की कमी रहती है जिससे घर में बरकत नहीं आती।

कांच के बर्तन न खरीदें -

धनतेरस पर कांच के बर्तन न खरीदें। कांच राहु से जुड़ा माना जाता है, इसलिए इस दिन इसे खरीदने बचें। इस दिन कांच की चीजों का इस्तेमाल भी न करें।