श्रीकृष्ण जी की आरती - Lord Krishna Aarti in Hindi
आरती

श्रीकृष्ण जी की आरती - Lord Krishna Aarti in Hindi

Dharm Raftaar

हिंदू धर्म में कृष्ण जी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। महाभारत काल में भगवान श्रीकृष्ण अर्जुन को गीता का ज्ञान देकर एक बहुत ही अहम भूमिका निभाई थी। जन्माष्टमी के पावन पर्व पर इनकी विशेष पूजा आराधना की जाती है। श्रीकृष्ण जी की पूजा में श्रीकृष्ण चालीसा, मंत्र और आरती का विशेष प्रयोग किया जाता है। पढ़ें कृष्ण जी की आरती (Krishna Aarti) ।

आरती को सेव कर पढ़े जब मन करे (Download Hanuman Aarti in PDF, JPG and HTML): आप इस आरती को पीडीएफ में डाउनलोड (PDF Download), जेपीजी रूप में (Image Save) या प्रिंट (Print) भी कर सकते हैं। इस आरती को सेव करने के लिए ऊपर दिए गए बटन पर क्लिक करें। श्रीकृष्ण जी की एक आरती निम्न है:

श्रीकृष्ण जी की आरती (Lord Krishna Aarti)

ॐ जय श्री कृष्ण हरे, प्रभु जय श्री कृष्ण हरेभक्तन के दुख टारे पल में दूर करे. जय जय श्री कृष्णहरे....

परमानन्द मुरारी मोहन गिरधारी.जय रस रास बिहारी जय जय गिरधारी.जयजय श्री कृष्ण हरे....

कर कंचन कटि कंचन श्रुति कुंड़ल मालामोर मुकुट पीताम्बर सोहे बनमाला.जय जयश्री कृष्ण हरे....

दीन सुदामा तारे, दरिद्र दुख टारे.जग के फ़ंद छुड़ाए, भव सागर तारे.जय जयश्री कृष्ण हरे....

हिरण्यकश्यप संहारे नरहरि रुप धरे.पाहन से प्रभु प्रगटे जन के बीच पड़े. जय जयश्री कृष्ण हरे....

केशी कंस विदारे नर कूबेर तारे.दामोदर छवि सुन्दर भगतन रखवारे. जय जयश्री कृष्ण हरे....

काली नाग नथैया नटवर छवि सोहे.फ़न फ़न चढ़त ही नागन, नागन मन मोहे. जय जयश्री कृष्ण हरे....

राज्य विभिषण थापे सीता शोक हरे.द्रुपद सुता पत राखी करुणा लाज भरे. जय जयश्री कृष्ण हरे....

ॐ जय श्री कृष्ण हरे.