कड़ा

कड़ा (Kara - Steel Bracelet in Hindi)

सिख पंच ककारों में से एक कड़े को बेहद महत्वपूर्ण समझा जाता है। कड़ा स्टील से बना हाथ में पहनने वाली एक वस्तु होती है। इसे अमूमन बाएं यानि सीधे हाथ में पहना जाता है। सिख धर्म में कड़े को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है।

कड़े का धार्मिक महत्व (Significance of Kara in Hindi)

शुरूआती दौर में कड़े को एक खालसा के हाथ का सुरक्षा बंधन माना जाता था। तलवार सीधे हाथ से पकड़ा जाता है और कड़ा भी सीधे हाथ में ही धारण किया जाता है। गुरु गोविंद सिंह जी ने कड़े को पंच ककारों में शामिल किया था। मान्यता है कि यह गुरु और धारण करने वाले के बीच रिश्ते को मजबूत करता है। जिस तरह गुरु का कोई अंत या आदि नहीं होता उसी तरह कड़े का भी कोई अंत नहीं होता। साथ ही माना जाता है कि हाथ में पहना हुआ कड़ा व्यक्ति को अपने हाथों होने वाले गलत कामों से रोकता है।

कड़े से जुड़े अन्य तथ्य (Facts of Kara in Sikhism in Hindi)

कई लोग मानते हैं कि मान्यता है कि कड़ा पहनने से कलाइयां मजबूत होती हैं और कड़े के घर्षण से शरीर को लौह तत्त्व की प्राप्ति होती है।

पांच चिन्ह

KaraKirpanKangha

सिख धर्म के प्रमुख तत्व

Narm MargGurbaniFamily
लोकप्रिय फोटो गैलरी