पारसनाथ जैन मंदिर

जैनियों के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल पारसनाथ अपने धार्मिक महत्व और प्राकृतिक सौंदर्य से श्रद्धालुओं को आकर्षित करता है। पारसनाथ जैन मंदिर जैन धर्म के 23 वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ व अन्य 19 तीर्थंकरों की निर्वाण स्थली है। इस कारण से इस मंदिर को जैन धर्म के प्रमुख तीर्थों में गिना जाता है।

पारसनाथ जैन मंदिर का इतिहास (History of Parasnath Jain Mandir) 

पारसनाथ जैन मंदिर कोलकाता के श्यामबाजार में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण 1867 में किया गया था। यह मंदिर 10वें तीर्थंकर शीतलनाथ को समर्पित किया गया है। यह मंदिर अपनी खूबसूरत नक्काशी और मूर्तिकारी के लिए भी प्रसिद्ध है।

मंदिर के दर्शन का समय (Timings) 

इस भव्य मंदिर के कपाट सुबह 6 बजे से साढ़े 11 बजे तक और फिर दोपहर बाद 3 बजे से रात 7 बजे तक श्रद्धालुओं के लिए खुले रहते हैं।

लोकप्रिय फोटो गैलरी