मक्का-मदीना (हज)

मक्का मदीना सऊदी अरब के हेजाज़ प्रांत में स्थित एक प्रमुख मुस्लिम तीर्थ स्थल है। इस्लामी परंपरा के अनुसार पैगम्बर मोहम्मद ने यहां इस्लाम की घोषणा की थी। मक्का मदीना मुस्लिम समुदाय के लिए एक पवित्र स्थान है। मक्का मदीना से संबंधित कई मान्यताएं लोगों के बीच प्रचलित है।

मक्का मदीना से इतिहास (History of Makka Madina or  Mecca Madina in Hindi)

माना जाता है कि यही वह स्थान है जहां पैगम्बर साहब का जन्म हुआ था। पैगम्बर साहब ने ही मूर्ति पूजा का खंडन करते हुए यहां इस्लाम धर्म की स्थापना की थी। इसके बाद से यह स्थान इस्लाम धर्म के लोगों के लिए जन्नत तक पहुंचने का रास्ता तथा एक पवित्र तीर्थ माना जाता है। मक्का मदीना संपूर्ण पवित्र इस्लामिक स्थान होने के कारण, यहां गैर इस्लाम के लोगों का जाना निषेध है।

यहां हर वर्ष लाखों मुस्लिम हज यात्रा के लिए आते हैं। मक्का में एक पत्थरों से बना हुआ विशाल मस्जिद स्थित है, इसके मध्य एक चकोर काबा स्थित है। मुस्लिम तीर्थ यात्री यहां आकर सात चक्कर लगाते हैं तथा चक्कर पूरा होने के बाद इसको माथा लगाकर चूमते हैं।
इस विशाल मस्जिद के पास ही एक “जम जम” नामक पवित्र कुंआ स्थित है। इस कुएं का पानी पीकर यहां एक शैतान को पत्थर मारने की रस्म अदा की जाती है।

यात्रा का समय (Time to Travel)

इस्लाम धर्म के लोग "ईद-उल-अजहा" जिस सामान्यतः “बकरी ईद” के नाम से जाना जाता है, के दौरान ही पवित्र तीर्थ यात्रा हज के लिए जाते हैं।

मक्का मदीना की मान्यता (Importance of Hajj)

मान्यता है कि काबा की यात्रा करने से वह अल्लाह के और करीब हो जाते हैं। इसके अलावा यह भी माना जाता है यहां आकर सारे पाप धुल जाते हैं तथा जन्नत का रास्ता खुल जाता है।

लोकप्रिय फोटो गैलरी