रविवार व्रत विधि

नारद पुराण में रविवार व्रत को सम्पूर्ण पापों को नाश करने वाला, आरोग्यदायक और अत्यधिक शुभ फल देने वाला माना जाता है। इस दिन भगवान सूर्यदेव की पूजा का विधान है।

रविवार व्रत विधि (Ravivar Vrat Vidhi)

पूजा समाप्ति के बाद रात को भगवान सूर्य को याद करते हुए तेल रहित भोजन करना चाहिए। एक वर्ष तक इसी प्रकार रविवार व्रत करने के बाद इस का उद्यापन करना चाहिए। इस व्रत को करने वाला व्यक्ति जीवन के सभी सुखों को भोग कर मृत्यु के बाद सूर्यलोक जाता है।

हिन्दू व्रत विधियां 2017

लोकप्रिय फोटो गैलरी