अयप्पा गायत्री मंत्र

भगवान अयप्पा शिव जी और भगवान विष्णु के पुत्र हैं। इसलिए इन्हें "हरिहर पुत्र" के नाम से भी जाना जाता है। इनकी पूजा मुख्य रूप से दक्षिण भारत में की जाती है। भगवान विष्णु और त्रिलोकी शिव के पुत्र भगवान अयप्पा मनोवांछित वर देने वाला देने देव माने जाते हैं। भगवान अयप्पा के गायत्री मंत्र को बहुत ही प्रभावी माना जाता है। तो आइए करें अय्यापा गायत्री मंत्र (Ayyappa's Gayatri Mantra) द्वारा भगवान अयप्पा की आराधना - 

अयप्पा गायत्री मंत्र (Lord  Ayyappa Gayatri Mantra)

भूता नाता सदा नंदा,
सर्वा भूटा दायाबरा.
रक्षा रक्षा महा बहो,
शास्त्रे तुभयाम नामो नमहा.
स्वमिये शरणं अय्यप्पा 

अयप्पा गायत्री मंत्र का प्रभाव (Benefits of Lord  Ayyappa Gayatri Mantra)

अयप्पा गायत्री मंत्र का लगातार जाप करने से व्यक्ति को कई प्रकार के लाभ होते हैं। इसके नियमित जाप करने से जीवन में शांति और खुशी आती है तथा व्यक्ति के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। इस मंत्र के बार- बार उच्चारण से व्यक्ति जीवन मृत्यु के चक्र से मुक्त हो जाता है तथा उसके सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। इस मंत्र का प्रयोग बच्चो को ज्ञान, बल,  बुद्धि देने वाला तथा उनके मन से भय को दूर भगाने वाला माना जाता है।   

मंत्र

लोकप्रिय फोटो गैलरी