हनुमान जी

हिन्दू धर्म में हनुमान जी को साहस, शक्ति, वफादारी तथा निस्वार्थ सेवा के लिए जाना जाता है। महाकाव्य रामायण में हनुमान जी को भगवान राम जी का सबसे बड़ा भक्त बताया गया है। इनकी नित दिन आराधना करने से मनोवांछित वरदान प्राप्त होता है। भगवान शिव के रुद्रावतार माने जाने वाले हनुमान जी की मंगलवार के दिन विशेष पूजा की जाती है। 

हनुमान जी का मंत्र (Mantra's of Hanuman Ji)

मान्यता है कि 'ॐ श्री हनुमते नम:॥' का जाप करने से भक्तिभाव, सकारात्मक सोच, शक्ति की बढ़ोत्तरी होती है।

हनुमान जी के नाम (Name of Hanuman)

  • मारुति
  • बजरंगबली
  • पवन पुत्र
  • अंजनी पुत्र
  • केसरीनंदन
  • रामेष्ट
  • अमित विक्रम
  • फालगुण सखा
  • महाबल
  • उदधिक्रमण
  • महावीर
  • बालाजी

हनुमान जी का अवतार (Avtar of Hanuman Ji)

पुराणों के अनुसार भगवान हनुमान जी को शिव जी का रुद्रावतार माना जाता है। शिव पुराण के अनुसार हनुमान जी ही शिवजी के ग्यारहवें अवतार हैं।

हनुमान जी की पत्नी (Wife of Hanuman Ji)

पिता केसरी तथा माता अंजना जी के पुत्र हनुमान जी के बारे में पुराणों में कहा गया है कि हनुमान जी, ब्रह्मचारी थे लेकिन इनका एक पुत्र था, जिसका नाम मकरध्वज था। मकरध्वज की उत्पत्ति हनुमान जी के पसीने से हुई थी जो एक मछली ने ग्रहण कर लिया था।

हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti)

हनुमान जयंती का पर्व हनुमान जी के जन्म उत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन विशेष विधि-विधान द्वारा हनुमान जी की पूजा की जाती है। मान्यता है कि हनुमान जी की पूजा करने से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं तथा मनोकामनाएं पूर्ण होती है। हनुमान जयंती के बारे में और अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें (हनुमान जयंती)

हनुमान जी से जुड़ी महत्त्वपूर्ण बातें (Facts of Hanuman Ji)

  1. हनुमान जी एक राम भक्त थे।
  2. उनका शस्त्र गदा है।
  3. इनकी हनुमान चालीसा को पढ़ने से सभी दरिद्रता, भय का नाश हो जाता है।
  4. शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने से सभी दुख-दर्द दूर होते हैं। 
  5. हनुमान जी की मंगलवार के दिन विशेष रूप से पूजा की जाती है। 
  6. शनि साढ़ेसाती या महादशा से पीड़ित जातकों को प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करना लाभदायक होता है।  

हनुमान जी के मुख्य मंदिर (Famous Temples of Hanuman Ji)

  • जाखू मंदिर
  • हनुमान टोक
  • मेहंदीपुर बालाजी मंदिर
  • श्री वीरामंलम अंजनियार मंदिर

इन्हें भी पढ़े:-

हनुमान जी के मंत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें (Hanuman Mantra in Hindi)
हनुमान जी की आरती पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें (Hanuman Aarti in Hindi)
हनुमान चलीसा पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें (Hanuman Chalisa In Hindi)
हनुमानाष्टक पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें (Hanumanashtak in Hindi)

लोकप्रिय फोटो गैलरी