gototop
raftaarLogoraftaarLogoM
Search
BG
close button


RaftaarLogo
sasas
Print PageSave as PDFSave as Image

काली माताkaali Mata

काली माता (kaali Mata)

मां काली हिन्दू धर्म की देवी हैं। इन्हें दुर्गा जी का अवतार माना जाता है। इनका रंग काला होने के कारण ही इन्हें कालरात्रि या मां काली कहा जाता है। इनकी उत्पत्ति राक्षसों के संहार हेतु की गई थी। माना जाता है कि काली माता बल और शक्ति की देवी हैं। नवरात्र के पावन पर्व पर काली माता की विशेष पूजा की जाती है।

काली माता की उत्पत्ति संबंधी कथा (Birth Story of Kali Mata)

एक कथा के अनुसार राक्षसों के अत्याचार से दुखी होकर सभी देवता देवी पार्वती के पास गए और उनसे राक्षसों का वध करने का आग्रह किया। इसके बाद देवी पार्वती ने दुर्गा रूप धारण कर राक्षसों का संहार किया परंतु दैत्य रक्तबीज के रक्त के धरती पर गिरने पर उससे कई राक्षस उत्पन्न हो जाते थे। तब दुर्गा जी के एक तेज से काली माता का जन्म हुआ जिन्होंने रक्तबीज का रक्त पीकर उसका वध कर दिया।

काली माता के मंत्र ( Kali Mata Mantra)

काली माता को प्रसन्न करने के लिए तथा घर में सुख शांति के लिए इन मंत्रों का जाप करना चाहिए:

ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं परमेश्वरि कालिके स्वाहा
ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै:

सर्वमंगमांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके।
शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणि नमोस्तुते।

काली माता का स्वरूप (Incarnation of Kali Mata)

देवी कालरात्रि का शरीर रात के अंधकार की तरह काला है, इनके बाल बिखरे हुए हैं तथा इनके गले में विधुत यानि नरमुंडो की माला है। कालरात्रि देवी के चार हाथ हैं जिसमें उन्होंने एक हाथ में कटार तथा एक हाथ में लोहे का कांटा धारण किया हुआ है। इसके अलावा इनके दो हाथ वरमुद्रा और अभय मुद्रा में है। इनके तीन नेत्र है तथा इनके श्वास से अग्नि निकलती है। कालरात्रि का वाहन गर्दभ(गधा) है।

काली माता से जुड़ी महत्त्वपूर्ण बातें (Facts of Kali Mata)

  1.  काली माता के चार हाथ हैं।
  2.  उनके अस्त्र- शस्त्र तलवार कटार और त्रिशूल हैं।
  3.  इन्होंने क्रोध में शिव जी के सीने पर पैर रख दिया था।
  4.  काली मां के चार रूप हैं: दक्षिणा काली, शमशान काली, मातृ काली और महाकाली।
  5.  इन्हें बल और शक्ति की देवी माना जाता है।
  6.  हिंदू धर्म के अनुसार कलियुग में जिन तीन जागृत देवों की बात कही गई है उनमें काली माता एक हैं।
  7.  बंगाल और असम में मां काली के विशेष पूजा की जाती है।

काली माता के अन्य नाम (Other Name of Kali Mata)

  • महाकाली,
  • गुहय काली
  • भद्र काली
  • काम काली
  • दक्षिण काली
  • कालरात्रि
  • भैरवी
  • चामुंडाय
  • पाप नाशिनी

काली माता के प्रसिद्ध मंदिर (Famous Temples of Mata Kali)

  • उज्जैन का गढ़ कालिका मंदिर
  • कोलकाता का काली मंदिर
  • पावागढ़ शक्तिपीठ
  • दक्षिणेश्वर काली मंदिर, कोलकाता

नवरात्र में काली पूजा (Worship of Goddess Durga At Navratra)

नवरात्र हिन्दुओं का विशेष पर्व है। नवरात्र के दिनों में श्रद्धालु काली माता की विशेष पूजा अर्चना करते है तथा नौ दिनों तक उपवास रखते हैं। माना जाता है कि काली माता की आराधना करने से शत्रुओं का नाश होता है। नवरात्र त्यौहार के बारे में और अधिक जानने के लिए यहां क्लिक करें:-(शारदीय नवरात्र , चैत्र नवरात्र)

इन्हें भी पढ़ेंः-

श्री कालीमाता की आरती पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें (Kali Mata Aarti in Hindi)

Raftaar.in