gototop
raftaarLogoraftaarLogoM
Search
Menu
BG
close button


RaftaarLogo
sasas
Print PageSave as PDFSave as Image

पार्वती जीDevi Parvati

पार्वती जी (Devi Parvati)

पार्वती जी हिन्दू धर्म की देवी हैं। इन्हें आदि शक्ति भी कहा जाता है। देवी भागवत पुराण में देवी पार्वती के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया है। दुर्गा, काली आदि पार्वती जी के ही रूप माने जाते हैं। इन्हें "गौरी" और "अम्बे मां" के नाम से भी जाना जाता है। माता पार्वती भगवान भोलेनाथ की पत्नी हैं। मान्यतानुसार पार्वती जी का व्यवहार दया, कृपा और करुणा से भरा हुआ है। 

पार्वती जी का स्वरूप (Incarnation of Devi Parvati in Hindi)

पुराणों के अनुसार माता पार्वती का मुख बहुत उज्ज्वल और तेजोमय है। मां का वर्ण या रंग गौरा है, इस कारण कई जगह इन्हें गौरी मां के नाम से भी जाना जाता है। इनके आठ हाथ हैं जिनमें इन्होंने त्रिशूल, पास, अंकुशा, शंख, चक्र, तलवार, कमल को धारण किए हुए हैं। इनका वाहन वृषभ है। यह सफेद वस्त्र धारण करें रहती हैं। अपने ममतामयी स्वभाव के कारण पार्वती जी को मां अम्बे भी कहा जाता है। हिन्दू धर्मानुसार पार्वती जी भगवान गणेश और कार्तिकेय की माता हैं। 

पार्वती जी की जन्म कथा (Birth Story Of  Devi Parvati)

पुराणों के अनुसार एक बार सती अपने पिता प्रजापति दक्ष के द्वारा आयोजित यज्ञ में गईं। वहां उनके पिता ने भगवान शिव के बारे में बहुत अपशब्द कहा जिसे सुनने के बाद क्रोध में आकर देवी पार्वती ने पिता के यज्ञ कुंड में ही कूद कर भस्म हो गईं।

इसके बाद पुनः शिव जी को पति रूप में प्राप्त करने के लिए देवी सती ने पार्वती रूप में जन्म लिया तथा कठोर तपस्या द्वारा शिव जी की अर्धांगिनी बनी।

पार्वती जी और उनका परिवार (Family of Devi Parvati)

पार्वती जी, भगवान शिव की पत्नी हैं। देवी पार्वती हिमालय के राजा हिमावन तथा मैनावती की पुत्री हैं। इनके दो पुत्र हैं जिनका नाम गणेश और कार्तिकेय है। कई पुराणों में शिव परिवार में शिवजी और पार्वती जी की एक पुत्री का भी वर्णन हैं।  

पार्वती जी को प्रसन्न करने के मंत्र (Mantra of Goddess Parvati)

विभिन्न कामनाओं की पूर्ति तथा देवी पार्वती को प्रसन्न करने के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए। इससे घर में सुख- शांति और समृद्धि आती है।

॥ऊँ पार्वत्यै नम:॥

पार्वती जी से संबंधित महत्त्वपूर्ण बातें (Important fact of Goddess Parvati)

  1. देवी पार्वती, शिव जी की अर्धांगिनी है।
  2. पार्वती जी देवी सती का दूसरा अवतार है।
  3. भगवान शिव को पति रूप में प्राप्त करने के लिए इन्होंने वर्षों तक कठोर तपस्या की थी।
  4. दुर्गा और काली आदि स्वरूपों को देवी पार्वती का सबसे उग्र स्वरूप माना जाता है।

पार्वती जी के अन्य नाम (Other Name of Goddess Parvati)

  • उमा
  • गौरी
  • अम्बिका
  • भवानी
  • सती
  • शिवा
  • महेश्वरी
  • सत्या
  • आर्या
  • भवानी

देवी पार्वती के प्रसिद्ध मंदिर (Famous Temples of Goddess Parvati)

  1. पार्वती मंदिर, खजुराहो (Parvati temple)
  2. गिरजा देवी मंदिर, उत्तराखंड (Garjia Devi Temple)
  3. अम्बाजी मंदिर, गुजरात (Ambaji temple)
  4. तिरुवैरानिकुलम श्री पार्वती मंदिर, कोची (Tiruvairanikulam Sri Parvati temple)
  5. विशालाक्षी मंदिर, वाराणसी (Vishalakshi temple)

Raftaar.in