ललिता पंचमी

हिन्दू पंचांग के अनुसार शक्तिस्वरूपा देवी ललिता को समर्पित ललिता पूर्णिमा आश्विन मास के शुक्ल पक्ष में होने वाले नवरात्री के पांचवें दिन मनाया जाता हैं। इस सुअवसर पर भक्तजन व्रत रखते हैं जिसे ललिता पंचमी व्रत के नाम से जाना जाता है।

ललिता पंचमी व्रत 2017 (Lalita Panchami 2017)

यह पर्व गुजरात और महाराष्ट्र के साथ- साथ लगभग पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। इस वर्ष ललिता पंचमी का व्रत 24 सितम्बर को रखा जाएगा।

ललिता पंचमी से जुड़ी प्रसिद्ध कथा (Story of Lalita Panchami)

शिव महापुराण के अनुसार इस दिन देवी ललिता भांडा नामक राक्षस का वध करने के लिए प्रकट हुई थीं। "भांडा" की उत्पत्ति कामदेव के शरीर की राख से हुई थी। इस दिन लोग विधिवत रूप से देवी ललिता के साथ स्कंदमाता और शिवजी की भी पूजा करते हैं।

ललिता पंचमी व्रत फल (Benefits of Lalita Panchami Vrat)

ललिता पंचमी का व्रत लोगों के लिए बहुत फलदायक माना जाता है। मान्यतानुसार इस दिन ललिता देवी की पूजा जो व्यक्ति पूर्ण भक्ति-भाव से करता है उसे देवी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। देवी ललिता की कृपा से व्रती के जीवन में हमेशा सुख शांति एवं समृद्धि बनी रहती है।

लोकप्रिय फोटो गैलरी