वेलांकन्नी

वेलांकन्नी तमिलनाडु राज्य में बसा हुआ एक छोटा सा शहर है। यह तमिलनाडु के कोरोमंडल तट पर नागपट्टिनम के 12 किमी दक्षिण में स्थित है। यहां मौजूद तीर्थस्थान वेलांकन्नी (Velankanni) है जो कि “आर लेडी ऑफ हेल्थ” (Our Lady of Health) जिन्हें वर्जिन मैरी भी कहते हैं, को समर्पित है। रोगियों को दूर करने की क्षमता के कारण  यह स्थान बेहद लोकप्रिय है। 



ईसाई मान्यता (Historical Belief and Story of Virgin Mary)
वर्जिन मैरी के बारे में माना जाता था कि वह चमत्कारी उपचार कर सकती थीं। उनके प्रति हमारी आस्था 16वीं शताब्दी के कुछ जाने माने चमत्कार के किस्सों से जुड़ी है। सन 1560 में वर्जिन मैरी ने एक चरवाहे से शिशु यीशु की प्यास बुझाने के लिए उससे दूध मांगा। जब वह चरवाहा यह नेक काम करने के बाद अपने गुरु के पास पहुंचा तो उसका घड़ा दूध से भरता रहा। नतीजतन वहां पर एक छोटा सा गिरजा घर बनवा दिया गया। 16वीं शताब्दी में एक बार फिर वर्जिन मैरी एक लंगड़े बच्चे के सामने प्रकट हुईं जिसके बाद से वह लड़का ठीक हो गया। तब इन किस्सों के बाद वर्जिन मैरी का यह चर्च बेसिलिका बनवाया गया।


परंपराएं (Tradition in Hindi)
इस बेसिलिका चर्च में वर्जिन मैरी से अच्छा स्वास्थ्य पाने के लिए कई तरह के रीति-रिवाज जुड़े हुए हैं जैसे कि यदि किसी को दिल की बीमारी है तो वह यहां दिल के आकार की कैंडल चढ़ाता है। ऐसा माना जाता है कि जब यहां पर प्रार्थना करने के बाद किसी की बीमारी ठीक हो रही हो तो वह अपने शरीर के उन बीमार अंगों से मिलते जुलते सोने और चांदी की प्रतिकृति चढ़ाते हैं। इस चर्च में एक छोटा सा संग्रहालय भी है जहां जिन लोगों की प्रार्थना स्वीकार कर ली गई हो उनके द्वारा चर्च में चढ़ाए गए भेंट की प्रदर्शनी लगी है।

लोकप्रिय फोटो गैलरी