उत्पत्ति

बाइबल के प्रथम ग्रंथ या भाग का नाम जेनेसिस यानि उत्पत्ति है। इस भाग में संसार और मनुष्य की उत्पत्ति और बाद में यहूदी जाति की उत्पत्ति तथा प्रारंभिक इतिहास का वर्णन किया गया है। इसे एक विवादित पुस्तक माना जाता है क्योंकि इसकी कई कहानियों और लेखों को अभी परिभाषित नहीं किया गया है। 



जेनेसिस के भाग (Parts of Genesis)

बाइबल में जेनेसिस को उत्पत्ति के नाम से वर्णित किया गया है। उत्पत्ति के दो भाग है: 
* जगत की सृष्टि और मनुष्य की उत्पत्ति का प्रारंभिक इतिहास: इस भाग में आदम और हव्वा की कहानी द्वारा मनुष्य की उत्पत्ति का रहस्य समझाया गया है। 
* इस्त्रालियों के आरंभिक पूर्वजों का इतिहास: इस भाग में कई पात्रों का वर्णन है जैसे इसहाक, याकूब आदि। 

जेनेसिस का मुख्य संदेश और विषय (Teachings of Genesis) 

जेनेसिस का मुख्य विषय परमेश्वर की कार्यप्रणाली को दर्शाना है। यह बताती है कि किस तरह परमेश्वर अपने बंदों पर राज करता है? कैसे उसने मनुष्यों को बनाया और उसके लिए नियम निर्धारित किए? पुस्तक में जिन धार्मिक बातों पर जोर दिया गया है वह निम्न हैं: 

* परमेश्वर अपने बच्चों की मदद के लिए अवश्य आते हैं। 
* परमेश्वर अगर अपने बच्चों से प्रेम करते हैं तो उसके गलत कार्यों की सजा भी देते हैं।

ईसाई धर्म की धार्मिक पुस्तकें

लोकप्रिय फोटो गैलरी