close button

Budhvar (Wednesday) Vrat Katha

Daily Vrat wednesdayबुध ग्रह की शांति और सर्व-सुखों की इच्छा रखने वाले स्त्री-पुरुषों को बुधवार का व्रत अवश्य करना चाहि...
पूरा पढ़ें
सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार

Religious Places

Raftaar Religionवैष्णो देवी
Vaishno Devi
Raftaar Religionचामुंडा मंदिर- शक्तिपीठ
Chamunda Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionभद्रकाली मंदिर- शक्तिपीठ
Bhadrakali Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionमहामाया मंदिर- शक्तिपीठ
Mahamaya Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionशुचीन्द्रम मंदिर- शक्तिपीठ
Suchindram Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionललिता देवी मंदिर- शक्तिपीठ
Lalita Devi Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionहृदयपीठ मंदिर- शक्तिपीठ
Hridaypeeth Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionकालिका मंदिर- शक्तिपीठ
Kalika Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionहिंगलाज मंदिर- शक्तिपीठ
Hinglaj Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionकामख्या मंदिर- शक्तिपीठ
Kamakhya Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionश्री विशालाक्षी मंदिर- शक्तिपीठ
Shri Vishalakshi Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionनैना देवी मंदिर- शक्तिपीठ
Naina Devi Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionज्वाला देवी मंदिर- शक्तिपीठ
Jwala Devi Mandir- Shakti Peeth
Raftaar Religionकैलाश मानसरोवर
Kailash Mansarovar
Raftaar Religionमल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग
Mallikarjuna Jyotirling
Raftaar Religionघुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग
Ghushmeshwar Jyotirling
Raftaar Religionभीमशंकर ज्योतिर्लिंग
Bhimshankar Jyotirling
Raftaar Religionकेदारनाथ ज्योतिर्लिंग
Kedarnath Jyotirling
Raftaar Religionश्री नागेश्वर ज्योतिर्लिंग
Shri Nageshwar Jyotirling
Raftaar Religionतिरुपति बालाजी
Tirupati Balaji
Raftaar Religionवैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग
Vaidyanath Jyotirling
Raftaar Religionत्र्यम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग
Tryambkeshwar Jyotirling
Raftaar Religionरामेश्वरम ज्योतिर्लिंग
Rameshwaram Jyotirling
Raftaar Religionसोमनाथ ज्योतिर्लिंग
Somnath Jyotirling
Raftaar Religionओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग
Omkareshwar Jyotirling
Raftaar Religionमहाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग
Mahakaleshwar Jyotirling
Raftaar Religionकाशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग
Kashi Vishwanath Jyotirling
विज्ञापन

Pongalपोंगल

Pongal Pongal 2014
Kisano ka tyohar Pongal mukhya roop se Dakshin Bharat me manaya jata hai. Char dino tak manaya janewala yah tyohar krishi evam phasal se sambandhit devta ko samarpit hai. Paramparik roop se sampannata ko samarpit is tyohar ke din Bhagvan Suryadev ko jo Prasad bhog lagaya jata hai, use Pogal kaha jata hai, jis karan is tyohar ka naam Pongal pada. Pongal tyohar mukhyatah char tarah ka hota hai, Bhogi Pongal, Surya Pongal, Mattu Pongal aur Kanya Pongal. Yah char pongal kramshah is char dino ke tyohar me krambaddh roop se manaye jate hain. Is parv me pahla din Bhagvan Indra ki pooja hoti hai aur naach-gaan hota hai, dusre din chaval ubala jata hai aur Surya Bhagvan ki pooja hoti hai, tisre din sab log pashuo ka poojan kar unka aarti utarte hain aur chauthe roz Mita Pongal banaya jata hai aur bhaiyon ki pooja ki jati hai.
Tamil ka yah prasiddh parv Pashudhan pooja me bilkul Govardhan Pooja ki tarah hota hai. Yah parv bahut hi jor-shor se manaya jata hai. Is din bailo ki ladaai hoti hai jo ki kafi prasiddh hai. Ratri ke samay log samuhik bhoj ka aayojan karte hain aur ek dusre ko mangalmay varsh ki shubhkamnayen dete hain. Is pavitra avsar par log fasal ke liye, prakash ke liye, jivan ke liiye Bhagvan Suryadev ke prati Pongal parv par kritagyata vyakt karte hain.
Source: Raftaar Live

पोंगल 2014
किसानों का त्यौहार पोंगल मुख्य रूप से दक्षिण भारत में मनाया जाता है. चार दिनों तक मनाया जानेवाला यह त्यौहार कृषि एवं फसल से सम्बंधित देवता को समर्पित है. पारंपरिक रूप से सम्पन्नता को समर्पित इस त्यौहार के दिन भगवान सूर्यदेव को जो प्रसाद भोग लगाया जाता है उसे पोगल कहा जाता है, जिस कारण इस त्यौहार का नाम पोंगल पड़ा. पोंगल त्यौहार मुख्यतः चार तरह का होता है, भोगी पोंगल, सूर्य पोंगल, मट्टू पोंगल और कन्या पोंगल. यह चार पोंगल क्रमशः इस चार दिनों के त्यौहार में क्रमबद्ध रूप से मनाए जाते हैं. इस पर्व में पहला दिन भगवान् इन्द्र की पूजा होती है और नाच-गान होता है, दूसरे दिन चावल उबाला जाता है और सूर्य भगवान की पूजा होती है, तीसरे दिन सब लोग पशुओं का पूजन कर उनका आरती उतारते हैं और चौथे रोज़ मिटा पोंगल बनाया जाता है और भाइयों के लिए पूजा की जाती है.
तमिल का यह प्रसिद्ध पर्व पशुधन पूजा में बिल्कुल गोवर्धन पूजा की तरह होता है. यह पर्व बहुत ही जोर शोर से मनाया जाता है. इस दिन बैलों की लड़ाई होती है जो कि काफी प्रसिद्ध है. रात्रि के समय लोग सामूहिक भोज का आयोजन करते हैं और एक दूसरे को मंगलमय वर्ष की शुभकामनाएं देते हैं. इस पवित्र अवसर पर लोग फसल के लिए, प्रकाश के लिए, जीवन के लिए भगवान् सूर्यदेव के प्रति पोंगल पर्व पर कृतज्ञता व्यक्त करते हैं.
Source: Raftaar Live

Features of Hinduism

हिन्दुत्व के तत्व

Raftaar Religionहिन्दुत्व एकत्व का दर्शन है
Hindutva ekatv ka darshan hai
Raftaar Religionहिन्दुत्व का लक्ष्य पुरुषार्थ है और मध्य मार्ग को सर्वोत्तम माना गया है
Hindutva ka lakshya pursharth hai aur madhya marg ko sarvottam mana gaya hai
Raftaar Religionहिन्दुओं के पर्व और त्योहार खुशियों से जुड़े हैं
Hinduon ke parv aur tyohar khushiyon se jude hai
Raftaar Religionसबसे बड़ा मंत्र गायत्री मंत्र
Sabse bada mantr gaayatri mantr hai
Raftaar Religionआत्मा अजर-अमर है
Atma ajar - amar hai
Raftaar Religionहिन्दू दृष्टि समतावादी एवं समन्वयवादी
Hindu drishti samtavadi evam samanyavaadi hai
Raftaar Religionपर्यावरण की रक्षा को उच्च प्राथमिकता
Paryavaran ki raksha ko uchh prathimiktaa
Raftaar Religionहिन्दुत्व का वास हिन्दू के मन, संस्कार और परम्पराओं में
Hindutva ka vaas hindu ke man, sanskar, aur paramparon mein hai
Raftaar Religionसती का अर्थ पति के प्रति सत्यनिष्ठा है
Sati ka arth pati ke prati satyanishta hai
Raftaar Religionस्त्री आदरणीय है
Stri adarniya hai
Raftaar Religionप्राणि-सेवा ही परमात्मा की सेवा है
Prani seva he parmatma ki seva hai
Raftaar Religionक्रिया की प्रतिक्रिया होती है
Kriya ki pratikriya hoti hai
Raftaar Religionहिन्दुओं में कोई पैगम्बर नहीं है
Hindu main koi paigambar nahin hai
Raftaar Religionहिन्दुत्व का लक्ष्य स्वर्ग-नरक से ऊपर
Hindutva ka lakshya swarg narak se upar hai
Raftaar Religionईश्वर से डरें नहीं, प्रेम करें और प्रेरणा लें
Ishvar se dare nahin, prem karen aur prerna le
Raftaar Religionब्रह्म या परम तत्त्व सर्वव्यापी है
Brahm ya param tatv sarvavyapii hai
Raftaar Religionईश्वर एक नाम अनेक
Ishwar ka naam anek
Raftaar Religionहिन्दुत्व के प्रमुख तत्व
Hindutva ke pramukh tatv
विज्ञापन

Connect with us

Daily Rashiphal

Daily Rashiphal in Hindi - राशिफल
विज्ञापन
Raftaar Religionश्री हनुमानजी की आरती
Shri Hanuman ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री साई बाबा की आरती
Shri Sai Baba ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री श्यामबाबा की आरती
Shri Shyam Baba ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री कुंज बिहारी की आरती
Shri Kunj Bihari ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री सत्यनारायणजी की आरती
Shri Satya Narayan ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री वृहस्पति देव की आरती
Shri Brihaspati dev ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री रामचन्द्रजी की आरती
Shri Ram Chandra ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री गणेशजी की आरती
Shri Ganesh ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री राणी सतीजी की आरती
Shri Rani Sati mata ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री अम्बें जी की आरती
Shri Ambe Mata ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री शिवजी की आरती
Shri Shiv ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री सरस्वती प्रार्थना
Shri Saraswati Prarthana
Raftaar Religionश्री कालीमाता की आरती
Shri Kali Mata ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री लक्ष्मीजी की आरती
Shri Laxmi Mata ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री गणेशजी की आरती
Shri Ganesh ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री संतोषी माता आरती
Shri Santoshi Mata ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री सरस्वतीमाता की आरती
Shri Saraswati Mata ji ki Aarti
Raftaar Religionश्री शनि देवजी की आरती
Shri Shani dev ji ki Aarti
विज्ञापन

Disclaimer : raftaar.in indexes third party websites as a search engine and does not have control over, nor any liability for the content of such third party websites. This is an automated technology to crawl the web and does not intend to infringe on rights of any site. However, if you believe that any of the search results, link to content that infringes your copyright, please email us at admin at raftaar.in and we will drop it from our automated index.